सुसाइड से पहले गर्भवती पत्नी को लिखा खत, कहा- मैं मर रहा हूं, लेकिन मेरे बेटे को जन्म जरूर देना…..

0 73

छतरपुर म.प्र.
द्वारा
दैनिक मधुर दर्पण समाचार
ब्यूरो जितेंद्र यादव

!! गुम हुए भूपेंद्र यादव उम्र 30 वर्ष की छतरपुर के सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के बेनीगंज मोहल्ला निवासी की झांसी के रेलवे स्टेशन पर रेलवे ट्रेक पर कटी हुई मिली लाश,मिला सुसाइड नोट-!!

छतरपुर भोपाल मध्यप्रदेश:– झांसी में सुसाइड से पहले एक शख्स ने अपनी गर्भवती पत्नी को सुसाइड नोट में जो भी लिखा उसको पढ़कर हर किसी की आंखे नम हो गई—

सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के बेनीगंज मोहल्ला निवासी युवक के परिजनों ने गुम होने की रिपोर्ट 18 जून को थाने में दर्ज कराई थी फिर झांसी में 20 जून को फादर डे (Fathers Day) पर भले ही पुत्र अपने-अपने तरीके से पिता के प्रति आस्था व्यक्त करने में जुटे थे, लेकिन एक पिता ऐसा भी था जो उस दिन रेल की पटरियों पर मौत के आगोश में समां गया. मरने से पहले शख्स ने अपनी गर्भवती पत्नी को एक भावुक पत्र और अपने प्यार की निशानी बच्चे को जन्म जरूर देने की बात कही. दरअसल, झांसी स्टेशन के निकट आरआरआई व सी केबिन के मध्य मुंबई रेल लाइन पर किमी नं 1126/27-28 पर एक युवक के रक्त रंजित शव पड़े होने की सूचना पर रेलवे पुलिस व डॉक्टर मौके पर पहुंचे और परीक्षण उपरांत उसे मृत घोषित कर दिया, युवक की मौत किसी ट्रेन से कटकर हुई थी,
शिनाख्त के लिए जब उसकी जेब की तलाशी ली तो सुसाइड नोट मिल गया, इसमें लिखा था कि ” मैं आत्महत्या करने जा रहा हूं, मेरा मृत शरीर मेरे घर पहुंचा दीजिए, मेरी पत्नी के पास जो अभी अपने घर पर है. मेरी पत्नी का नाम मरियम बानो है, पिता मोहम्मद आजाद उर्फ़ फज्जू निवासी टीकमगढ़ है, मरियम आई लव यू, मेरी आप चिंता नहीं करना. हम हमेशा आपके साथ है. आप मेरे बच्चे को जन्म जरूर देना वो हमारे प्यार की निशानी है, मैं मर जरूर रहा हूं, लेकिन हमेशा आपके दिल में आपके साथ रहूंगा, मेरे साथ क्या हुआ, मैं क्यों मरा, इसका पता मेरी पत्नी मरियम बानो आपको बताएगी. मेरी अंतिम इच्छा यही है कि मेरा अंतिम संस्कार मेरी पत्नी मरियम ही करें और कोई दूसरा नहीं करें, मरियम से निवेदन है कि मेरे मरने के बाद दूसरी शादी न करें. ”
मुस्लिम लड़की से किया था प्रेम विवाह
इस पत्र को जिसने पड़ा वह भावुक हो गया क्योंकि पत्र की इबारत एक ऐसे प्यार के बंधन की ओर इशारा कर रही थी जो समाज की बंदिशों को दरकिनार कर तो किया गया था।

किंतु प्यार का यह सफर मौत के ठिकाने पर समाप्त हो गया. हालांकि जीआरपी ने पत्र में मिले मोबाइल नंबर पर संपर्क किया तो मृतक का नाम भूपेंद्र यादव निवासी छतरपुर मप्र एसबीआई के निकट निकला. इससे स्पष्ट हो गया भूपेंद्र ने मुस्लिम लड़की से प्यार कर विवाह लिया, किंतु समाज ने उसे स्वीकार नहीं किया और उसकी परिणिति मौत हो गई. उधर, पुत्र के मौत की खबर ने उसके परिवार को शोक में डुबो दिया क्यों कि उन्हें उम्मीद नहीं रही होगी कि दूसरे धर्म की लड़की से प्यार व शादी का हश्र मौत होगा, मृतक के परिजनों ने बताया कि मृतक के बड़े भाई प्रशान्त यादव की पत्नी पूजा यादव से विवाह भूपेंद्र यादव ने किया था क्योंकि पूजा के मायके पक्ष के लोग दहेज प्रथा का केस दर्ज कराना चाहते थे एवं ससुराल पक्ष पर दबाव बना रहे थे,जिसके चलते भूपेंद्र यादव ने शादी पूजा से कर ली थी लेकिन भूपेंद्र का चक्कर कहीं और चलता था रात्रि में भूपेंद्र और पूजा के बीच विवाद हुआ जिसके चलते पूजा ने मोबाइल और पर्स छुड़ा लिया फिर भूपेंद्र गुम हो गया, गुम होने की रिपोर्ट छतरपुर के सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र में परिजनों ने दर्ज कराई लेकिन 2 दिन के बाद भूपेंद्र की मौत की खबर मिली आज दिनांक 22 जून को परिजन सिटी कोतवाली पहुंचे और निष्पक्ष जांच की गुहार लगाई सिटी कोतवाली पुलिस छतरपुर एवं झांसी पुलिस के द्वारा पूरे मामले की जांच की जा रही है।।

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.