National Hindi Samachar Patra
Nature

- Advertisement -

भाजापा टूट के कगार पर…..?

0 19
Nature

- Advertisement -

उत्तर प्रदेश लखनऊ/नई दिल्ली
द्वारा
दैनिक मधुर दर्पण समाचार
ब्यूरो जितेंद्र यादव

उत्तर प्रदेश लखनऊ /नई दिल्ली:–भारतीये जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी के लगातार ट्वीट इस बात का इशारा कर रहे है कि मोदी की प्रधानमंत्री पद की नाकामी से नाखुश है। गिरती अर्थवाबस्था, कॉरोनसंकट को उबारने में असफल और गलत विदेश नीति से दुखी स्वामी जो लगातार सचेत करते आ रहे है।
अभी एक नितिन गडकरी का बयान आया जिसमे उन्होंने कहा कि वैक्सीन का फार्मूला को 10 % रॉयल्टी के साथ दूसरे कंपनियों को देना चाहिए जिससे वैक्सीन की प्रोडक्शन बड़ाई जा सके और वेक्सीन की खोज करने वाले को रॉयल्टी भी मिलती रहे। इस बयान से यह साबित हुआ कि प्रधानमंत्री एक छोटी से समस्या का भी हल ढूंढने में असमर्थ है।
पिछले साल के लोकडौन में जो निराशा मिली उंस डर के कारण इस भयानक स्थिति में खुद लोकडौन लगाने का फैसला छोड़, राज्य सरकारों पर निर्णय देने का अधिकार सौप दिया।
एक के बाद एक प्रधानमंत्री के असफल निर्णय से अक्षुब्ध होकर अब स्वास्थ्य मंत्री को कमान सौप दी।
इन सभी व्यक्तव्य से यही अर्थ निकाला जा रहा है कि प्रधानमंत्री किसी भी समस्या का निवारण करने में सक्षम नही है और पार्टी टूटने के कगार पर आ खड़ी हुई है। जनता का आक्रोश पूरी तरह से सामने आ रहा है। अधिकतर विधयाक अपने चुने क्षेत्र में जनता के विरोध में नही जा रहे है। भाजपा के 50 MP गायब है। अगर 75 MP एक साथ खड़े हो गए तो भाजपा पार्टी टूट सकती है। ऐसा अनं लगाया जा रहा है कि संघ भी नितिन गडकरी के साथ खड़ी है और राजनाथ सिंह, और कई बड़े नाम जिनका अभी नाम सामने नही आया सभी यही मान रहे है कि नेतृत्व बदलना चाहिए।
अब देखना यह है कि पार्टी का नया नेता चुना जाता है या पार्टी दो फाड़ में होती है।

Nature

- Advertisement -

Nature

- Advertisement -

Leave A Reply

Your email address will not be published.